हिन्दी व्याकरण - उपसर्ग Prefix


हिन्दी व्याकरण - उपसर्ग Prefix



उपसर्ग शब्द दो शब्दों उप ( समीप ) + सर्ग (मिलना/ सृष्टि करना ) इसका अर्थ है- समीप आकर मिलना । व्याकरण में इसका अर्थ है किसी शब्द के समीप आ कर नया शब्द बनाना ।

Prefix


परिभाषा

वे शब्दांश जो किसी मूल शब्द के पूर्व में लगकर नये शब्द का निर्माण करते हैं अर्थात नये अर्थ का बोध कराते हैं , उन्हें उपसर्ग कहते हैं । ये शब्दांश होने के कारण मुक्त अवस्था में इनका अपना कोई महत्त्व नहीं होता किन्तु शब्द के पूर्व में लगकर उस शब्द विशेष के अर्थ में परिवर्तन ला देते है ।

जैसे
हार ' एक शब्द है . इसके साथ शब्दांश प्रयुक्त होने पर कई नये शब्द बनते हैं यथा आहार ( भोजन ) , उपहार ( भेट ) प्रहार ( चोट ) विहार ( भ्रमण ) , परिहार ( त्यागना ) , प्रतिहार ( द्वारपाल ) संहार ( मारना ) , उद्धार ( मोक्ष ) आदि । अत . हार ' शब्द के साथ प्रयुक्त क्रमशः आ , उप , प्र , वि , परि , प्रति , सम , उत् आदि शब्दांश उपसर्ग की श्रेणी में आते हैं ।

उपसर्ग के प्रकार

हिन्दी में उपसर्ग तीन प्रकार के होते हैं

  • हिन्दी के उपसर्ग
  • विदेशी के उपसर्ग
  • संस्कृत के उपसर्ग


हिन्दी के उपसर्ग



 उपसर्ग  

 अर्थ 

उपसर्ग युक्त शब्द

अननहींअन ( नहीं ) अनपढ़ , अनजान , अनबन , अनमोल अनहोनी , अनदेखी , अनचाहा , अनसुना

समसमानसमतल , समदर्शी , समकोण , समकक्ष , समकालीन , समचतुर्भुज , समग्र

अधआधाअधमरा , अधपका , अधजला , अधगला , अधकचरा , अधखिला , अधनंगा

बुराकपूत , कलंक , कठोर

 उचक्का , उजड़ना , उछलना , उखाड़ना , उतावला

नानाविविधनानाप्रकार , नानारूप , नानाजाति , नानाविकार

आपस्वय आपकाज , आपबीती , आपकही , आपसुनी

चिर चिरकाल , चिरायु , चिरयौवन , चिरपरिचित चिरस्थायी , चिरस्मरणीय

नहींनकुल , नास्तिक , नग , नपुंसक , नगण्य , नेति ,

बहुज्यादाबहुमूल्य , बहुवचन , बहुमत . बहुमुज बहुविवाह , बहुसंख्यक , बहूपयोगी

तितीनतिरंगा , तिराहा , तिपाई , तिकोन , तिमाही

काबुराकायर , कापुरुष , काजल

सहितसपूत , सफल , सबल , सगुण , सजीव , सावधान , सकर्मक ( सदैव

 दुदोदुरंगा , दुलती , दुनाली , दुराहा दुपहरी , दुगुना , दुकाल . दुबला

उनएक कमउन्नीस , उनतीस , उनचालीस , उनचास उनसठ , उन्नासी

अवऔगुन , औगढ , औसर , औधट , औतार

कुबुराकुरूप , कुमुत्र , कुकर्म कुख्यात , कुमार्ग कुचाल , कुचक्र , कुरीति

परदूसरापरहित , परदेसी , परजीवी , परकोटा , परदादा , परलोक , परकाज , परोपकार

भरपूराभरपेट , भरपूर , भरकम , भरसक , भरमार , भरपाई

बिनबिना बिनखाया , बिनव्याहा बिनयोया बिन मांगा , बिन बुलाया , बिनजाया

चौचारचौराहा , चौमासा , चौपाया , चौरंगा , चौकन्ना , चौमुखा , चौपाल
पचपाँचपथरंगा . पचमेल , पथकूटा , पचमढ़ी



विदेशी उपसर्ग

हिन्दी भाषा में अन्य भाषाओं के शब्द भी प्रयुक्त होते हैं जैसे - अरबी , फ़ारसी , उर्दू , अंग्रेजी आदि । उनके उपसर्गों को हिन्दी में विदेशी उपसर्ग की संज्ञा दी जाती है ।


 उपसर्ग  

 अर्थ 

उपसर्ग युक्त शब्द

बेरहित  बेघर , बेवफा , बेदर्द , बेसमझ , बेवजह , बेहया , बेहिसाब

दरमेंललदरअसल , दरवार , दरखास्त , दरहकीकत , दरम्यान

बासहित  बाइज्जत , बामुलायजा , बाअदय , बाकायदा

कमअल्प कमअक्ल , कमउन्न , कमजोर , कम समझ , कमबख्त

लापरे लाइलाज , लावारिस , लापरवाह , लापता . लाजवाय

नानहीं नापसन्द , नाकाम , नाबालिग , नाजायज , नालायक , नाराज

हरप्रत्येक हरदम , हरवक्त , हररोज , हरहाल हर मुकाम , हर घडी

खुशश्रेष्ठखुशनुमा , खुशहाल . खुशबू , खुशखबरी खुशमिजाज

ऐन ऐनवक्त ऐनजगह , ऐन मौके

हमसाथ हमराज , हमदम , हमवतन , हमसफर , हमदर्द

अलनिश्चित अलगरज , अलविदा , अलबत्ता , अलबेता

गैरभिन्न गैर हाजिर गैरमर्द , गैर वाजिब

हैप्रमुख हैडमास्टर , हैड ऑफिस , हैडवाय

हाफआधा हाफकमीज , हाफटिकट , हाफपेन्ट , हाफशर्ट

सबउप सब रजिस्ट्रार , सबकमेटी , सब इन्स्पेक्टर

कोसहित को - आपरेटिव , को - आपरेशन , को - एजूकेशन

नेकभला नेकराह , नेकनाम , नेकदिल , नेकनीयत

बेशअत्यधिक   बेशकीमती बेशकीमत

बिलाबिना बिलाकसूर , बिलाक्जह , बिलाकानून

सहित  बखूबी , बतीर , यशत बदौलत

सरमुख्य सरपंथ , सरदार , सरताज , सरकार

बदबुरा बदबू , बदचलन , बदमाश , बदमिजाज , बदनाम
  




संस्कृत के उपसर्ग

संस्कृत में मूल रूप से उपसर्ग की संख्या 22  है । इन 22 व कुुुछ  अन्य उपसर्ग हिन्दी में भी प्रयुक्त होते हैं इसलिए इन्हें संस्कृत के उपसर्ग कहते हैं ।

 उपसर्ग  

   अर्थ  

उपसर्ग युक्त शब्द

अतिअधिकअतिशय , अतिक्रमण , अतिवृष्टि , अतिशीघ्र अत्यन्त , अत्यधिक , अत्याचार , अतीन्द्रिय अत्युक्ति , अत्युत्तम , अत्यावश्यक , अतीव

अधि                      प्रधान / श्रेष्ठअधिकरण , अधिनियम , अधिनायक अधिकार , अधिमास , अधिपति . अधिकृत अध्यक्ष , अधीक्षण , अध्यादेश , अधीन अध्ययन , अधीक्षक , अध्यात्म अध्यापक

प्रआगे / अधिकप्रदान , प्रबल , प्रयोग , प्रचार , प्रसार , प्रहार , प्रयत्न , प्रभंजन , प्रपौत्र , प्रारम्भ ,

परा विपरीतपराजय , पराभव , पराकम , परामर्श , परावर्तन , पराविद्या , पराकाष्ठा

अपबुरा / विपरीत अपकार , अपमान , अपयश , अपशब्द अपकीर्ति , अपराध , अपव्यय , अपहरण ,
बुरा / हीन  अपकर्ष , अपशकुन , अपेक्षा

समअच्छी तरह / पूर्ण संकल्प , संचय , सन्तोष , संगठन , संचार . संलग्न , संयोग , संहार , संशय , संरक्षा

अनुपीछे / समान अनुकरण , अनुकूल , अनुधर , अनुज , अनुशासन , अनुरूप , अनुराग , अनुक्रम , अनुनाद , अनुभव , अनुशंसा , अन्यय , अन्वीक्षण , अन्वेषण , अनुच्छेद . अनूदित

अव अवगुण , अवनति , अवधारण , अवज्ञा , अवगति , अवतार , अवसर , अवकाश , अवलोकन , अवशेष , अवतरण
निसबिना / बाहर निश्चय , निश्छल , निष्काम , निष्कर्म निष्याप , निष्फल , निस्तेज , निस्सन्देह

निर बिना / बाहर निरपराध , निराकार , निराहार , निरक्षर , निरादर , निरहंकार , निरामिष , निर्जर , निर्धन , निर्यात , निर्दोष , निरवलम्ब , नीरोग , नीरस , निरीह , निरीक्षण

दुसबुरा / विपरीत / कठिन दुश्चिन्त , दुश्शासन , दुष्कर , दुष्कर्म , दुस्साहस , दुस्साध्य ,

दुरकठिन दुराशा , दुराग्रह , दुराधार , दुरवस्था , दुरुपयोग , दुरभिसंधि , दुर्गुण . दुर्दशा दुर्घटना , दुर्भावना , दुरुह

वी विशेषविजय , विज्ञान , विदेश , वियोग , बिनाश , विपक्ष , बिलय , विहार , विख्यात . विधान . व्यवहार , व्यर्थ , व्यायाम , व्यजन , व्याधि , व्यसन , व्यूह

तक आजन्म , आहार आयात , आतप , आजीवन , आगार , आगम , आमोद आशंका , आरक्षण , आमरण , आगमन आकर्षण , आबालवृद्ध , आधारा

अननही / बुरा अनन्त , अनादि , अनेक , अनाहूत , अनुपयोगी , अनागत , अनिष्ट , अनीह अनुपयुक्त , अनुपम , अनुचित , अनन्य

निबिना निडर , निगम , निवास , निदान , निहत्थ , निबन्ध , निदेशक , निकर , निवारण , न्यून , न्याय , न्यास , निषेध , निषिद्ध

अभिपासअभिनव , अभिनय , अभिवादन , अभिमान , अभिभाषण , अनियोग , अभिभूत , अभिभावक अभ्युदय , अभिषेक , अभ्यर्थी , अभीष्ट अभ्यन्तर अभीप्सा , अभ्यास

उत्ऊपर उत्पन्न , उत्पति , उत्पीड़न , उत्कंठा उत्कर्ष , उत्तम , उत्कृष्ट , उदय उन्नत , उल्लेख , उद्धार , उच्छवास उज्ज्वल , उच्चारण , उच्छृखल , उदगम

उपपास उपकार , उपवन , उपनाम , उपचार , उपहार , उपसर्ग , उपमन्त्री , उपयोग , उपभोग , उपभेद , उपयुक्त , उपभोग उपेक्षा , उपाधि , उपाध्यक्ष

सुअच्छा / सरलसुगना , सुगति , सुबोध , सुयश , सुमन , सुलभ , सुशील , सुअवसर , स्वागत , स्वल्प , सूक्ति

समअच्छी तरह / पूर्ण शुद्ध संकल्प , संचय , सन्तोष , संगठन , संचार . संलग्न , संयोग , संहार , संशय , संरक्षा

प्रतिप्रत्येक / विपरीत  प्रतिदिन , प्रत्येक , प्रतिकूल , प्रतिहिंसा , प्रतिरूप , प्रतिवनि , प्रतिनिधि , प्रतीक्षा , प्रत्युत्तर , प्रत्याशा , प्रतीति

परिपीछे चारो ओर / पासपरि पीछ चारो ओर / पास परिक्रमा , परिवार , परिपूर्ण , परिमार्जन , परिहार , परिक्रमण , परिचमण , परिधान परिहास , परिश्रम , परिवर्तन , परीक्षा , पर्याप्त , पर्यटन , परिणाम , परिमाण , पर्यावरण , परिच्छेद , पर्यन्त

अन्तर                    अन्तर्गत , अन्तरात्मा , अन्तर्यान , अन्तर्दशा अन्तर्राष्ट्रीय , अन्तरिक्ष , अन्तर्देशीय
प्रादुर                  प्रादुर्भाव , प्रादुर्भूत
पुनर पुनर्जन्म , पुनरागमन , पुनरुदय , पुनर्विवाह पुनर्मूल्याकन , पुनर्जागरण
पूर्व पूर्वज , पूर्वाग्रह , पूर्वाई , पूर्वाह , पूर्वानुमान  
प्राक प्राक्कथन , प्राक्कलन , प्रागैतिहासिक , प्राग्देवता , प्राबमुख , प्राक्कर्म पुरस पुरस्कार , पुरश्चरण , पुरस्कृत
पुरसपुरस पुरस्कार , पुरश्चरण , पुरस्कृत
बहिर         बहिरागत , बहिति , बहिर्भाव , बहिरंग , बहिर्गमन
आत्म        आत्मकथा , आत्मघात , आत्मबल , आत्मचरित . आत्मज्ञान
बहिस        बहिष्कार , बहिष्कृत
सह सहपानी , सहकर्मी , सहोदर , सहयोगी सहानुभूति , सहचर
स्वस्वतन्त्र , स्वदेश , स्वराज्य , स्वाधीन , स्वरचित , स्वनिर्मित , स्वार्थ
पुरा पुरातन , पुरातत्व , पुरापथ , पुराण , पुरावशेष
स्वयंस्वयंभू , स्वयंवर , स्वयसेवक , स्वयंपाणि , स्वयंसिद्ध
आविस     आविष्कार , आविष्कृत
प्रातरप्रातः काल , प्रातः वन्दना , प्रातः स्मरणीय
आविरआविर्भाव , आविर्भूत
इति इतिश्री , इतिहास , इत्यादि , इतिवृत्त
अलम अलंकरण , अलंकृत , अलंकार
तिरस्       तिरस्कार , तिरस्कृत
अमाअमा अमावस्या , अमात्य
तत् तल्लीन , तन्मय , तद्धित , तदनन्तर , तत्काल , तत्सम , तद्भव , तदूप
सत
 सत्कर्म , सत्कार , सदगति , सज्जन , सच्चरित्र , सदधर्म , सदाचार
Previous
Next Post »

उत्साहवर्धन के लिये धन्यवाद! ConversionConversion EmoticonEmoticon